तुलसी के पेड़ लगाने का सबसे अच्छा समय क्या है?

हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का विशेष महत्व है। धार्मिक महत्वों के साथ-साथ तुलसी का आयुर्वेद में भी महत्वपूर्ण स्थान है। कई छोटे-बड़े रोग के उपचार के लिए तुलसी के पत्ते और मंजरी का इस्तेमाल किया जाता है। आंगन में तुलसी का पौधा रख महिलाएं नियमित रूप से जल अर्पित कर शाम के वक्त दीप जरूर जलाती हैं। देखा जाए तो अस्सी प्रतिशत घरों में तुलसी का पौधा लगा हुआ होता है।

तुलसी का पौधा लगाना तो आसान है, लेकिन समय-समय पर इसकी उचित देखभाल भी जरूरी है। वातावरण को शुद्ध और सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह करने वाली तुलसी को लगाने का एक सही समय और मौसम होता है। आप जब चाहें, तब तुलसी का पौधा लगा सकते हैं, लेकिन सही समय न होने के कारण वह ठीक से ग्रो नहीं करेगी और सूख जाएगी। इसलिए आज के इस लेख में हम आपको तुलसी का पौधा लगाने का सही समय बताएंगे।

तुलसी लगाने का सही समय क्या है?

धार्मिक महत्व की बात करें तो अक्टूबर या नवंबर यानी मार्गशीर्ष महीने में तुलसी का पौधा लगाना चाहिए। ऐसा करने से जीवन में खुशहाली और समृद्धि आती है। चूंकि यह भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी का प्रिय महीना है इसलिए इस महीने में तुलसी लगाने के अनेक लाभ मिलते हैं।

किस महीने में लगाएं तुलसी का पौधा?

धार्मिक महत्व के अलावा वैज्ञानिक दृष्टि की बात करें तो वसंत ऋतु तुलसी लगाने के लिए बेस्ट है। शरद ऋतु के संपन्न होने और गर्मियों के शुरू होने से पहले इस मौसम में यदि आप तुलसी का पौधा लगाते हैं, तो वह तेजी से बढ़ता है और पौधे के सूखने की संभावना कम होती है। तुलसी का पौधा फरवरी और मध्य मार्च तक लगाएं, क्योंकि होली आते-आते गर्मी पड़ने लगती है, जो आपके तुलसी के पौधे को सूखा सकती है।

फरवरी के गुनगुने मौसम में पौधा जल्दी उगकर तेजी से बढ़ता है। इस मौसम में तुलसी के पत्ते काले भी नहीं पड़ते हैं और उचित मौसम के कारण खूब सारे पत्ते आते हैं। इसलिए तुलसी लगाने के लिए फरवरी और मार्च के महीने को चुनें।

धूप में कमी के चलते तुलसी के कोमल पत्ते सूखते नहीं और तेजी से ग्रो करते हैं। इसके अलावा धार्मिक मान्यताओं की मानें तो तुलसी के पौधेको गुरुवार और शुक्रवार के दिन लगाना चाहिए। इस दिन लगाया हुआ पौधा विशेष फलदायी और शुभ होता है।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह के और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें NewsLiner.in से। अपने विचार हमें आर्टिकल के ऊपर कमेंट बॉक्स में जरूर भेजें।

Leave a Comment