भगवान शिव के प्रसन्न होने पर मिलते हैं ये संकेत

धर्म शास्त्रों के अनुसार, जब भगवान हमसे रुष्ट होते हैं तब उन्हीं के माध्यम से हमें कई सारे संकेत मिलते हैं जो यह दर्शाते हैं कि हमने कहां गलती की है या क्या हमसे ऐसी चूक हुई है जिसके कारण भगवान हमसे नाराज हैं।

वहीं, जब भगवान हमसे प्रसन्न होते हैं तब उससे जुड़े भी कई संकेत हमें नजर आने लगते हैं। भगवान के प्रसन्न होने से जुड़ी घटनाएं हमारे जीवन में घटने लगती हैं। इन घटनाओं या परिस्थितियों के कारण ही हमें भगवान के हमारे समीप होने का आभास होता है।

इसी कड़ी में ज्योतिषाचार्य राधाकांत वत्स ने हमें बताया कि जब भगवान शिव हमसे प्रसन्न होते हैं तो उनके द्वारा कुछ ऐसे संकेत होते हैं जो हमें अपने जीवन में मिलने लग जाते हैं। तो चलिए इस लेख में जानते हैं कि कौन से हैं शिव जी के प्रसन्न होने के वो संकेत।

भगवान शिव शंकर के आपके साथ होने से जुड़े संकेत क्या हैं?

शिव पुराण के अनुसार, जब भगवान शिव अपने किसी भक्त से प्रसन्न होते हैं तब व्यक्ति को आंतरिक मन में डमरू के बजने की आवाज सुनाई देती है। यह आवाज उसे मानसिक रूप से शांत करती है और उसका तनाव कम करने का काम करती है।

इसके अलावा, अगर आप कहीं बाहर जाएं और आपको किसी ऐसे स्थान पर आपको त्रिशूल दिख जाए जहां उसके दिखने की उम्मीद न हो तो समझ लें कि भगवान शिव आपसे प्रसन्न हैं और उनकी कृपा आप पर एवं आपके परिवार पर बनी हुई है।

अगर आपको रास्ते में कहीं भी आते या जाते नंदी महाराज यानी कि शांत बैल के दर्शन हो जाएं तो यह भी भगवान शिव के आपकी पूजा से प्रसन्न होने के संकेत हैं। ऐसे में आपको उस शांत बैल को देखकर भगवान शिव का ध्यान करते हुए नमन करना है।

आप भी इस लेख में दी गई जानकारी के माध्यम से यह जान सकते हैं कि आखिर वो कौन सी घटनाएं हैं जिनका घटना भगवान शिव के प्रसन्न होने का संकेत मानी जाती हैं। अगर हमारी स्टोरीज से जुड़े आपके कुछ सवाल हैं, तो वो आप हमें आर्टिकल के नीचे दिए कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आप तक सही जानकारी पहुंचाने का प्रयास करते रहेंगे। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है, तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़ी रहें NewsLiner.in से।

Leave a Comment